2020 में भारत में कुल कितने राज्य हैं ? मुख्यमंत्री कौन हैं ?

भारत छेत्रफल की दृष्टि से दुनिया का सांतवां सबसे बड़ा देश है और जनशंख्या की दृष्टि से दुसरा। इतने बड़े देश को संभालना बहुत ही मुश्किल कार्य होता है इसीलिए भारत में कई राज्य बनाये गए है और उन राज्यों को चलाने के लिए प्रत्येक के मुख्यमंत्री। इस व्यवस्था से फायदा यह हो जाता है की पुरे देश को चलाने का भर काफी बाँट जाता है।

इस लेख से हम जानेंगे की भारत में कुल कितने राज्य हैं, भारत के राज्यों के मुख्यमंत्रियों के नाम क्या है और कौन से राज्य की उत्पति भारत में कब हुई। इसके साथ साथ आपको और भी बहुत सी जानकारिया मिलेंगी जो आपके लिए फायदेमंद साबित हो सकती है।

2020 में भारत के कुल राज्य :-

भारत में अभी कुल 28 राज्य और 8 केंद्र शाषित प्रदेश हैं। इन सभी राज्यों के उनके अपने मुख्यमंत्री हैं। इन मुख्यमंत्रियों का चुनाव राज्य के लोगो के द्वारा एक चुनावी प्रक्रिया से होता है। राज्यों की प्रशासन व्यवस्था सँभालने की जिम्मेदारी इन मुख्यमंत्रियों की ही होती है। लेकिन केंद्र शाषित प्रदेश (दिल्ली, पांडुचेरी और जम्मू एवं कश्मीर को छोड़कर) की प्रशासन व्यवस्था राष्ट्रपति द्वारा चुने गए प्रशासको द्वारा संभाली जाती है।

bharat me kul kitne rajya hai map
स्त्रोत : wion

भारत के राज्यों के नाम एवं उनके मुख्यमंत्रीयों की सूची

क्रमांक राज्य राजधानी वर्त्तमान मुख्यमंत्रीराज्य गठन जनसँख्या भाषा
1आंध्र प्रदेश हैदराबाद श्री वाईएस जगन मोहन रेड्डी1956 49,506,799तेलगु
2अरुणाचल प्रदेशईटानगर श्री पेमा खांडू1987 1,383,727अंग्रेजी,हिंदी,आदि
3असम दिसपुर श्री सर्वानंद सोनोवाल1950 31,205,576असामी ,बंगाली ,बोडो
4बिहार पटना श्री नीतीश कुमार1950 104,099,452हिंदी
5छत्तीसगढ नया रायपुर श्री भूपेश बघेल2000 25,545,198हिंदी
6गोवा पणजी श्री प्रमोद सावंत1987 1,458,545कोंकणी,मराठी
7गुजरात गांधीनगर श्री विजय रूपाणी1960 60,439,692गुजराती
8हरियाणा चंडीगढ़ श्री मनोहर लाल1966 25,351,462हिंदी,पंजाबी
9 हिमाचल प्रदेश शिमला श्री जयराम ठाकुर1971 6,864,602हिंदी,संस्कृत
10झारखण्ड रांची श्री हेमंत सोरेन2000 32,988,134हिंदी
11कर्नाटक बैंगलोर श्री बी.एस. येदियुरप्पा1956 61,095,297कन्नड़
12केरल थिरुवनंतपुरम श्री पिनरई विजयन1956 33,406,061मलयालम
13मध्य प्रदेश भोपाल श्री शिवराज सिंह चौहान1950 72,626,809हिंदी
14महाराष्ट्र मुंबई श्री उद्धव ठाकरे1950 112,374,333मराठी
15मणिपुर इंफालश्री एन बीरेन सिंह1972 2,855,794मैतेई , अंग्रेजी
16मेघालय शिलांग श्री कोनराड संगमा1972 2,966,889अंग्रेजी,खासी
17मिजोरम आइजॉल श्री पीयू जोरामथांगा1987 1,097,206हिंदी,अंग्रेजी,मिज़ो
18नागालैंड कोहिमा श्री नेफ्यू रियो1963 1,978,502अंग्रेजी
19ओडिशा भुबनेश्वर श्री नवीन पटनायक1950 41,974,218ओड़िआ
20पंजाब चंडीगढ़ श्री कैप्टन अमरिंदर सिंह1966 27,743,338पंजाबी
21राजस्थान जयपुर श्री अशोक गहलोत1950 68,548,437हिंदी, अंग्रेजी
22सिक्किम गंगटोक श्री पीएस गोले1975 610,577भुटीआ, गुरुंग,लेपचा,
लिंभु,मननगर,मुखिया,
नेवरी,राइ,शेरपा,
तमांग,नेपाली,अंग्रेजी
23तमिलनाडु चेन्नई श्री टी ईके पलनीसामी1956 72,147,030तमिल
24तेलंगाना हैदराबाद श्री के.चंद्रशेखर राव2014 35,193,978तेलगु
25त्रिपुरा अगरतला श्री विप्लव कुमार देव1972 3,673,917बंगाली,कोकबोरोक
26उत्तर प्रदेश लखनऊ श्री योगी आदित्य नाथ1950 199,812,341हिंदी
27उत्तराखंड देहरादून श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत2000 10,086,292हिंदी,संस्कृत
28पश्चिम बंगाल कोलकाता सुश्री ममता बनर्जी1950 91,276,115बंगाली,हिंदी,नेपाली,
ओड़िआ,पंजाबी,संथाली
स्त्रोत : Wikipedia एवं www.india.gov.in

भारत के केंद्र शासित प्रदेश के नामों की सूची

क्रमांक केंद्र शासित प्रदेश राजधानी गठित हुआ जनसँख्या भाषा
1अण्डमान और निकोबार
द्वीपसमूह
पोर्ट ब्लेयर 1956 380,581हिंदी,अंग्रेजी,बंगाली,मलयालम,
तमिल,तेलगु ,
2चंडीगढ़ चंडीगढ़ 1966 1,055,450हिंदी,अंग्रेजी,पंजाबी
3दादरा और नगर हवेली
और  दमन और दीव
दमन 2020 586,956हिंदी,गुजरती,अंग्रेजी,कोंकणी,मराठी
4दिल्ली नई दिल्ली 1956 16,787,941हिंदी,अंग्रेजी,पंजाबी
5जम्मू और कश्मीर श्रीनगर 2019 12,258,433हिंदी,डोगरी,कश्मीरी
6लद्दाख लेह 2019 290,492हिंदी,लदाखी,बाल्टी,पुरगी
7लक्षद्वीप कवरत्ती 1956 64,473मलयालम,अंग्रेजी
8पांडुचेरी पॉन्डिचेरी 1962 1,247,953तमिल,मलयालम,तेलगु,अंग्रेजी
स्त्रोत : Wikipedia एवं www.india.gov.in

26 जनवरी,1950 के बाद में बनाई गयी राज्य

आंध्र प्रदेश (1956 ):- इसे राज्य का दर्जा 1 नवंबर ,1956 को मिला था। यह पहले मद्रास का एक हिस्सा था।

अरुणाचल प्रदेश (1987) :- अरुणाचल प्रदेश 1972 में पहले एक केंद्र शासित प्रदेश बना फिर बाद में 1987 में इसे एक राज्य का दर्जा प्राप्त हुआ।

छत्तीसगढ़ (2000) :- छत्तीसगढ़ 1 नवंबर,2000 को मध्य प्रदेश से अलग होकर एक राज्य बना।

गोवा (1987) :- भारत के स्वतंत्र हो जाने के बाद भी यह राज्य पुर्तगालियों के शासन में था लेकिन 1961 में भारतीय सेना ने इसे उनके शासन से मुक्त कराकर इसे दमन और दिव के साथ एक केंद्र शासित राज्य बना दिया। बाद में फिर 30 मई,1987 को गोवा को एक राज्य का दर्जा मिला।

गुजरात और महाराष्ट्र (1960) :- 1 मई, 1960 को गुजरात बॉम्बे प्रेसीडेंसी से अलग होकर एक स्वतंत्र राज्य बना। बता दें की महाराष्ट्र और गुजरात दोनों ही पहले ब्रिटिश इंडिया में बॉम्बे प्रेसीडेंसी के अंदर आते थें। फिर 1 मई,1960 को इसे दो भागो में बांटकर गुजरात और महाराष्ट्र बनाया गया।

हरियाणा और पंजाब (1966) :- देश के स्वतंत्र होने के बाद पटिआला रियासत और आठ ऐसे ही छोटे रियासतों को मिलाकर एक राज्य बनाया गया। लेकिन बाद में फिर 1966 में इस राज्य को बाँटकर हरियाणा और पंजाब बनाया गया। इन दोनों राज्यों की अभी एक ही राजधानी है –चंडीगढ़

हिमाचल प्रदेश (1971) :- 1950 में 30 छोटें रियासतों को मिलाकर हिमाचल प्रदेश का गठन किया गया और 1956 में इसे एक केंद्र शासित प्रदेश घोषित कर दिया गया। 25 जनवरी,1971 को इसे पूरी तरह से एक राज्य का दर्जा मिल गया।

झारखण्ड (2000) :- 15 नवंबर,2000 को यह राज्य बिहार से अलग होकर एक स्वतंत्र राज्य बन गया।

कर्नाटक (1956) :- सभी कन्नड़ भाषा बोले जाने वाले क्षेत्रो को मिलाकर 1956 में एक राज्य बनाया गया। पहले इस राज्य का गठन मैसूर के रूप में हुआ फिर 1973 में इसे कर्नाटक का नाम दे दिया गया।

केरल (1956) :- त्रावणकोर, कोचीन और मालाबार को मिलाकर 1956 में केरल राज्य का गठन हुआ।

मणिपुर (1972) :- मणिपुर भी भारत के साथ ही 1947 में था। 1956 में ये भारत का एक केंद्र शासित प्रदेश बना और फिर अंत में 21 जनवरी,1972 को पूरी तरह से एक राज्य बन गया।

मेघालय (1972) :- मेघालय 1972 मे असम के अंदर एक स्वायत्त राज्य बना। 21 जनवरी 1972 को यह एक स्वतंत्र राज्य बन गया।

मिजोरम (1987) :- मिजोरम पहले असम का एक जिला था। 1972 में इसे एक केंद्र शासित प्रदेश बना दिया गया लेकिन मिज़ो नेशनल फ्रंट के द्वारा विरोध करने के बाद इसे 20 फरवरी,1987 को एक राज्य का दर्जा दे दिया गया।

नगालैंड (1963) :- इस राज्य का गठन असम से अलग होकर 1 दिसंबर,1963 को हुआ था।

सिक्किम (1975) :- सिक्किम 16 मई,1975 को भारत के साथ मिल गया।

तेलंगाना (2014) :- यह भारत का 29वां राज्य था लेकिन जम्मू और कश्मीर के केंद्र शासित प्रदेश बनने के बाद भारत में अब वापस से 28 राज्य हो गए हैं। तेलंगाना का निर्माण आंध्र प्रदेश के कुछ जिलों को मिलाकर 2 जून 2014 को हुआ।

त्रिपुरा (1972) :- त्रिपुरा 1972 में एक राज्य बना इसके पहले यह एक केंद्र शासित प्रदेश था।

उत्तराखंड (2000) :- उत्तर प्रदेश के कुछ राज्यों को मिलाकर वर्ष 2000 में उत्तराँचल नाम से एक नए राज्य का गठन किया गया लेकिन फिर 2007 में इसके नाम उत्तराँचल से बदलकर उत्तराखंड कर दिया गया है।

जम्मू और कश्मीर (2019) :- अगस्त 2019 में जम्मू और कश्मीर राज्य को दो भंगो में बांटकर 2 केंद्र शासित प्रदेश का गठन किया गया – 1. जम्मू और कश्मीर & 2. लद्दाख

और भी पढ़ें :-

हम आशा करते हैं की इस लेख को पढ़ने के बाद आपको भारत एवं भारत के राज्यों के गठन के बारे में काफी कुछ नया जानने को मिला होगा। हम इस पोस्ट को लगातार अपडेटेड रखने की कोशिश करते रहते है , अगर आपको इस पोस्ट में कोई जानकारी पुराणी मिलती है तो कृपया हमें कमेंट के द्वारा सूचित करे हम उसे जल्द से जल्द अपडेट कर देंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *